हम और तुम

हम और तुम हम दुख के बच्चे हैं, और तुम खुशी के बच्चे हो । हम दुख के बच्चे हैं, और दुख ईश्वर का साया है, जो क्रूर दिलों की जागीरों में नहीं बसता। हम दुखियारी आत्माएं हैं, और दुख इतना विशाल है, जो छोटे दिलों में समा पाए। जब तुम हंसते हो, हम रोते […]

क्या तुम्हें याद है?

क्या  तुम्हें याद है? ये वही बात है। जो कही मैंने तुम्हें, बस उसी रात है। आँखें मुंदी सी थीं, होंठ कुछ अधखिले। तुम भी जगे ही थे, जाने सुना या नहीं । याद नहीं क्या बात थी? अब भी है या नहीं। जब तुमने थी सुनी, वो तुम्हें कैसी लगी? खो गई वो कहां, […]

उत्पत्ति

स्वामी योगानंद जी द्वारा लिखी ‘ऑटो बायोग्राफी ऑफ ए योगी’ में उनके श्रद्धेय गुरु श्री युक्तेश्वर गिरी ने बाइबल में दी गई उत्पत्ति का इन शब्दों में उल्लेख किया है: श्री युक्तेश्वर गिरी ने ईसाई बाइबल का आशय सुंदर रूप से स्पष्ट किया है।जब श्री योगानंद स्वामी ने बड़े रोष के साथ अपने गुरु के समक्ष […]

The Genesis

Recently, I read the book ‘Autobiography of a Yogi’ by Swami Yogananda ji. Through the teachings of his revered Guru, Sri Yukteshwar ji, I got great insights into some esoteric subjects like the Christian Bible that I would like to share here. One day Swami Yogananda ji during his early struggles expressed vehemently to his […]

चंचला

नदी और नारी का मन https://www.grootbos.com/application/files/live/7215/3597/3935/lady-stanford-river-cruises-grootbos-experiences.JPG?fID=3383&d=1&s=w1200मुस्कुhttps://cdn6.dissolve.com/p/D145_300_230/D145_300_230_1200.jpgराती हूं मैं, निर्मल अविरलबूँदों की धारा सी बहती रहती हूं। मुस्कुराती हूं मैं, निर्मल अविरल बूँदों की धारा सी बहती रहती हूं। हिमशिखर की ऊंचाइयों से,चली धरा पर आ निकली हूं।किरणें पाकर सूरज की सुनहली,खिलखिलाती हूं, चमचमाती हूं । सतरंगी मोती बिखेरती हुई, फिर आगे बढ़ जाती हूं मैं। […]

ज्योतिष विज्ञान

स्वामी योगानंद जी द्वारा लिखी ‘ऑटो बायोग्राफी ऑफ ए योगी’ में उनके श्रद्धेय गुरु श्री युक्तेश्वर गिरी ने ज्योतिष के पीछे विज्ञान का इन शब्दों में उल्लेख किया है: यह प्रश्न विश्वास का नहीं है; किसी भी विषय पर वैज्ञानिक दृष्टिकोण जो रखना चाहिए वह है कि,  क्या यह सत्य है । पृथ्वी का गुरुत्वाकर्षण सिद्धांत […]

Astrology

Recently, I read the book ‘Autobiography of a Yogi’ by Swami Yogananda ji.  Through the teachings of his revered Guru, Sri Yukteshwar ji, I got great insights into some esoteric subjects.  One of those is Astrology. Some extracts on this topic given in the book are reproduced below: It is not a question of belief; […]